Hit enter after type your search item

एक Lawyer (Advocate) कैसे बनें जानिए पूरी प्रक्रिया

/
/
/

प्रत्येक व्यक्ति का यह सपना होता है कि वो पढ़ लिख कर बड़ा आदमी बने और दुनिया में अपना नाम रोशन करे। इसलिए ज़िन्दगी में कुछ लोग इंजीनियर बनना चाहते हैं, कुछ लोग डॉक्टर बनना चाहते हैं, तो वही कुछ लोगों का सपना होता है एक प्रोफेशनल Lawyer  (Advocate) बनने का, जिसके लिए वो पढ़ाई भी करते हैं और कठिन मेहनत भी करते हैं।

  • इस जुर्म की दुनिया में प्रोफेशनल एडवोकेट (Advocate) का टाईटल मिल पाना ही काफी वैल्युएबल होता है।
  • सिर्फ वकील बनना ही कोई बड़ी बात नही होती। बल्कि बड़ी बात है एक काबिल ओर बेस्ट एडवोकेट (Advocate) बनना।
  • हर साल बहुत से स्टूडेंट्स लॉ (Law) की पढ़ाई करते हैं जिसमें से तकरीबन सिर्फ 20 परसेंट स्टूडेंट्स ही प्रैक्टिस में जा पाते हैं।

Lawyer और Advocate में अंतर

ध्यान रहे एक Lawyer और एक  Advocate  में अंतर होता है। जब आप अपनी कानून की पढ़ाई पूरी कर लेते हैं और कानून की डिग्री प्राप्त कर लेते हैं तब आप सिर्फ एक Lawyer होते हैं। परंतु Lawyer के पास किसी भी व्यक्ति के केस की सुनवाई या पक्ष रखने का अधिकार नहीं होता है। इसके लिए आपको बार काउंसिल में अपने आप को पंजीकृत करवाना होता है।

पंजीकृत करवाने के लिए पश्चात् आपका एक लाइसेंस बनता है। लाइसेंस बन जाने के बाद ही आप Advocate कहलाते हैं। और उसके बाद ही आप किसी व्यक्ति का केस लड़ सकते हैं। यह लाइसेंस बनवाने के लिए ही आपको ऑल इंडिया बार एग्जाम देना पड़ता है जो बार काउंसिल ऑफ इंडिया के द्वारा वर्ष में दो बार आयोजित करवाया जाता है।

how-to-become-lawyer-advocate-in-india-hindi

तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको एक Lawyer अथवा Advocate बनने की पूरी प्रक्रिया को समझाने का प्रयास करेंगे !

Lawyer अथवा Advocate बनने की पूरी प्रक्रिया

सबसे पहले हम बात करते हैं कि LLB क्या होती है? LLB की फुल फॉर्म होती है Legum Baccalaureus जो कि एक लैटिन भाषा का शब्द है। इसमें लीगल प्लुरल है इसलिए जब हम इसकी शार्ट फॉर्म यूज़ करते हैं तो डबल L का प्रयोग किया जाता है। Legum Baccalaureus का अंग्रेजी में मतलब होता है बैचलर ऑफ लॉ (Bachelor Of Law) जोकि एक बैचलर डिग्री है। जिसे आप ग्रेजुएशन पास करने के बाद हासिल कर सकते हैं।

  • यदि आपको भारतीय कानून के बारे में ज़्यादा जानना हैं या लॉ (Law) में आप अपना कैरियर बनाना चाहते हैं तो BA LLB/ LLB आपके लिए एक बेहतरीन विकल्प है।
  • LAW में आपको कानून के बारे में अच्छे से पढ़ाया जाता है। LAW की पढ़ाई करने के बाद आप एक वकील बन जाते हैं। उसके बाद चाहे तो आप कोर्ट में जज भी बन सकते हैं और अगर आप चाहे तो दूसरी फील्ड में भी जा सकते हैं।

 

Law की पढ़ाई करने के लिए आवश्यक योग्यताएं

अगर आप BA LLB करना चाहते हैं जो 12वीं कक्षा के बाद होता है। तो आपको कम से कम 50 प्रतिशत मार्क्स के साथ 12वीं पास करनी होगी। और यदि आप LLB करना चाहते हैं जो ग्रेजुएशन के बाद होती है तो आपको किसी भी स्ट्रीम में 45 परसेंट मार्क्स के साथ ग्रेजुएट पास होना चाहिए। बारहवीं कक्षा के पश्चात लॉ की पढ़ाई 5 वर्ष की होती है। जबकि ग्रेजुएशन के पश्चात इसकी पढ़ाई 3 वर्ष की होती है।

लॉ करने की उम्र लिमिट को ले करके BCI (Bar Council Of India) की तरफ से कोई खास स्पष्टता नही है। लेकिन 2017 में BCI की एक मीटिंग हुई थी जिसके अनुसार BA LLB करने की अधिकतम उम्र (Maximum Age) जनरल वालों के लिए 20 वर्ष तथा SC, ST वर्ग वालों के लिए 22 वर्ष है। इसी तरह से अगर कोई LLB करना चाहता है तो LLB करने के लिए अधिकतम उम्र (Maximum Age) 35 वर्ष है।

कुछ लॉ कॉलेज में LLB और BA LLB करने के लिए CLAT यानी कॉमन लॉ एडमिशन टेस्ट (Common Law Entrance Test) पास करना बहुत ज़रूरी होता है। जिसका फॉर्म भी ऑनलाइन (Online) भरा जाता है और उसका एग्जाम भी ऑनलाइन ही होता है। ट्रिपल सी की तरह CLAT एग्जाम के लिए जनरल कैंडिडेट की उम्र 20 वर्ष ओर SC-ST वालों के लिए 22 वर्ष होती है।

अब तक आपने यह जान लिया है कि LLB क्या होती है और LLB करने के लिए क्या-क्या योग्यताएं (Qualifications) होनी चाहिए ! चलिए अब हम बात करते हैं कि Lawyer (Advocate) कैसे बनते हैैं ?

 

Lawyer (Advocate) बनने के लिए चार महत्वपूर्ण चरण

प्रथम चरण (Step 01)

आपको अपनी 12वीं कक्षा पास करनी होगी। वकालत की पढ़ाई करने के लिए सबसे पहले आपको 12वीं कक्षा तक की अपनी स्कूल की पढ़ाई पूरी करनी होती है। आप किसी भी विषय अथवा स्ट्रीम को लेकर पढ़ाई कर सकते हैं। चाहे वो आर्ट्स हो, कॉमर्स हो या साइंस हो। अगर आप आर्ट्स को लेकर पढ़ाई करते हैं तो आपको ज़्यादा फायदा होगा क्योंकि इस सब्जेक्ट्स में आपको कुछ हद तक लॉ के बारे में भी बताया जाता है। बारहवीं कक्षा के पश्चात बीएएलएलबी/बीकॉम एलएलबी आदि कोर्स की अवधि 5 वर्ष की होती है।

द्वितीय चरण (Step 02)

लॉ कॉलेज में एडमिशन के लिए आपको CLAT एंट्रेंस एग्जाम देना होता है। जैसे ही आप 12वीं का एग्जाम पास कर लेते हैं उसके बाद आप लॉ करना चाहते है तो आपको लॉ का एंट्रेंस एग्जाम (CLAT) देना होता हैं। भारत में आल इंडिया लेवल पर CLAT एग्जाम काफी पॉपुलर है। CLAT एग्जाम देने के बाद आप किसी भी लॉ College में एडमिशन ले सकते हैं।

[यदि आप अपनी ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने के पश्चात एलएलबी करना चाहते हैं तो इसकी अवधि 3 वर्ष की होती है और इसके लिए आप सीधे ही किसी कॉलेज में जाकर इस कॉलेज के क्राइटेरिया के आधार पर एडमिशन ले सकते हैं।]

तृतीय चरण (Step 03)

लॉ (Law) की पढ़ाई के बाद आपको इंटर्नशिप (Internship) करनी होगी। जैसाकि हम सभी लोग जानते हैं कोई भी पढ़ाई पूरी करने के बाद हमें उसकी प्रैक्टिकल नॉलेज लेने के लिए इंटर्नशिप बहुत ही जरूरी होती है। उसी तरह से आपको लॉ कॉलेज से पढ़ाई पूरी करने के बाद भी इंटर्नशिप करनी होगी। इंटर्नशिप के दौरान आपको कोर्ट कचहरी के बारे में बहुत सारी चीज़ें सिखाई जाएगी। जैसेकि कोर्ट की सुनवाई कैसे होती है, ड्राफ्टिंग कैसे करते हैं, एक ही वकालत नामे पर 2 एडवोकेट वकालत कैसे करते हैं आदि। इसलिए आपको इंटर्नशिप ज़रूर करनी चाहिए !

चतुर्थ चरण (Step 04)

State Bar Council में Enrollment. इंटर्नशिप के बाद आपको स्टेट के बार कौंसिल में जाकर अपने आपको पंजीकृत (Enroll) कराना होता है। इसमें Enroll करने के बाद आपको आल इंडिया बार एग्जामिनेशन यानी AIB को भी क्लियर करना होता है, जोकि बार कौंसिल ऑफ इंडिया द्वारा कंडक्ट कराया जाता है। इसे क्लियर करने के बाद ही आपको प्रैक्टिस करने का सर्टिफिकेट दिया जाता है। जिसके बाद आप पूरे भारत मे कभी भी, कही भी प्रैक्टिस कर सकते हैं।

अन्य विकल्प : Other Options

तो इस तरह से आप एडवोकेट (Advocate) बन जाते हैं। इसके बाद अगर आप चाहे तो जज भी बन सकते हैं। अगर आप चाहे तो अपनी आगे की पढ़ाई LLM यानी कि मास्टर ऑफ लॉ (Master Of Law) करके किसी भी कॉलेज में लेक्चरर भी बन सकते हैं। लॉ (Law) करने के बाद आप क्रिमिनल लॉयर भी बन सकते हैं, सिविल लॉयर भी बन सकते हैं। आप जज भी बन सकते हैैं। लेकिन सिविल, क्रिमिनल लॉयर और जज बनने के अलावा और भी बहुत सारे फ़ील्ड्स हैं जो आप सेलेक्ट कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:

 

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी यह जानकारी अवश्य पसंद आई होगी। आप कमेंट सेक्शन में जाकर हमारे साथ अपनी राय को साझा कर सकते हैं। यदि आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अधिक से अधिक लोगों के बीच शेयर अवश्य करें!

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This div height required for enabling the sticky sidebar